सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना 2024 – रजिस्ट्रेशन फॉर्म, लाभ व पात्रता

Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana – बालिकाओं की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास जी ने सन 2019 में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना को शुरू किया था। लेकिन सन् 2022 मे मुख्यमंत्री सुकन्या योजना को सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना में संशोधित कर दिया गया है। इसलिए अब वर्तमान में राज्य की बालिकाओं को पूर्व की तरह मुख्यमंत्री सुकन्या योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा बल्कि इसके स्थान पर लाभार्थी बालिकाओं को सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का लाभ दिया जाएगा।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत बालिकाओं को 8वीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। राज्य के कुछ जिलों में इस योजना का लाभ देने की शुरुआत भी कर दी गई हैं। झारखंड के निवासी हमारा यह आर्टिकल अवश्य पढ़ें। क्योंकि आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में नीचे इस योजना से जुड़ी हर एक बात बताने जा रहे हैं जिसे पढ़कर आप अपनी बालिका को Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana का लाभ आसानी से दिलवा सकते हैंं।

Savitribai

Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana 2024

झारखंड सरकार द्वारा अपने राज्य की बालिकाओं को शिक्षा से जोड़ने के लिए सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना को आरंभ किया है। इस योजना के तहत 8वीं एवं 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली लाभार्थी लड़कियों को 2500 रुपए और 10वीं, 11वीं और 12वीं में पढ़ने वाली को ₹5000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी। इसके अलावा 18 साल की आयु पूरी कर लेने के बाद लाभार्थी बालिकाओं को ₹20000 का एकमुश्त अनुदान भी दिया जाएगा। एकमुश्त अनुदान की राशि को बालिकाएं अपनी उच्च शिक्षा या शादी में इस्तेमाल कर सकती हैं।

इस योजना के माध्यम से राज्य की SECC-2011 जनगणना के अंतर्गत शामिल 27 लाख परिवारों और 10 लाख अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों की बालिकाओं को लाभान्वित किया जाएगा। यानी कुल मिलाकर 37 लाख परिवारों की बेटियां इस योजना के माध्यम से लाभ की प्राप्ति कर सकेंगी। Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana 2024 के तहत लाभान्वित होकर बालिकाएं निरंतर शिक्षा प्राप्त कर सकेंगी। जिससे बाल विवाह पर रोक लगेगी और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को बढ़ावा मिलेगा।

आपकी योजना आपकी सरकार आपके द्वार

23rd Nov Update:- सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना में अब सभी बच्चियों को मिलेगा लाभ

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विश्व बाल दिवस के अवसर पर एक बड़ी घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत एक परिवार की अधिकतम दो बच्चियों को दिए जाने वाले लाभ की बाध्यता को खत्म कर दिया गया है। अब इस योजना का लाभ परिवार की सभी बच्चियों को मिलेगा। ताकि आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की सभी बच्चियों को आर्थिक सहायता मिल सके। विश्व बाल दिवस पर सीएम ने यूनिसेफ के बाल पत्रकारों से मुलाकात की ओर संवाद के बाद घोषणा की। और कहा कि हमारी सरकार ने सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना की शुरुआत राज्य की बेटियों को सशक्तिकरण और उनकी पढ़ाई से जोड़े रखने के लिए की है। इस योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा बेटियों को मिल सके। इसके लिए अब इस योजना के अंतर्गत एक परिवार से अधिकतम दो बच्चियों को लाभ देने की बाध्यता को खत्म किया जाएगा। जिससे सभी बच्चियों को लाभ मिल सकेगा।

16th Nov Update – किशोरी समृद्धि योजना के तहत झारखंड की 5.5 लाख छात्राओं को मिलेगा लाभ

झारखंड की छात्राओं को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन स्थापना दिवस के मौके पर बड़ा तोहफा देंगे। मुख्यमंत्री सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा कक्षा 8 से 12वीं तक की छात्राओं को 20 हजार रुपए की आर्थिक सहायता राशि का लाभ किया जाता है। यह राशि हर वर्ग के छात्राओं को अलग-अलग अनुदान स्वरूप दी जाती है। मुख्यमंत्री सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत झारखंड सरकार ने 5.5 लाख छात्राओं को आर्थिक लाभ देने के लिए यह योजना बनाई है। इस योजना के तहत 261 करोड़ रुपए का छात्राओं को आर्थिक लाभ दिया जाएगा। वर्तमान में इस योजना से 6 लाख 51 हजार से अधिक किशोरियों को जोड़ा गया है। ताकि राज्य में बाल विवाह जैसी कुप्रथा को खत्म कर महिला सशक्तिकरण और शिक्षा को बढ़ावा दिया जा सके।

किशोरी समृद्धि योजना का लाभ लेने के लिए जन्म प्रमाण पत्र देना अनिवार्य नहीं होगा।

गुरुवार को मुख्यमंत्री हेमंत सरकार की कैबिनेट बैठक हुई थी। इस बैठक में सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना को लेकर हेमंत सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। इस बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि अब से सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का लाभ लेने के लिए बालिकाओं को आवेदन करने हेतु जन्म प्रमाण पत्र देना अनिवार्य नहीं होगा। पहले बाल कल्याण समिति द्वारा इस योजना के तहत अनाथ बालिकाओं को प्रमाण पत्र की छाया प्रति आवेदन पत्र के साथ संलग्न करना अनिवार्य था। लेकिन अब सरकार द्वारा इस शर्त को हटाने का निर्णय लिया गया है। ताकि ज्यादा से ज्यादा बालिकाओं को इस योजना का लाभ प्रदान किया जा सके। इसके अलावा यह भी निर्णय लिया गया है। कि विवाह योग्य निर्धारित आयुक्त होने के पूर्व लाभार्थी का विवाह होने पर इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा। बालिका के माता पिता की मौत होने के बाद किशोरी के पालक या अभिभावक के संबंधित कागज ही मान्य होंगे।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के बारे में जानकारी

योजना का नाम Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana
लाभार्थी Secc-2011और अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों की लड़किया
उद्देश्य किस्तों आर्थिक सहायता प्रदान करना
किस्तों की संख्या 6 किस्तें
कुल आर्थिक सहायता ₹40000 रु
साल 2024
राज्य झारखंड
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन
आवेदन फॉर्म डाउनलोड करने का लिंक आवेदन पत्र

Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana में आवेदन करने हेतु जानकारी

बालिकाओं को सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत आवेदन करने के लिए अपने नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र में जाकर आंगनबाड़ी संचालिका से आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा। क्योंकि इस योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया को ऑफलाइन रखा गया है। आवेदन करने हेतु बालिकाएं अपने स्कूल, प्रखंड, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी एवं जिला समाज कल्याण पदाधिकारी कार्यालय में जाकर भी संपर्क कर सकती हैं। राज्य के जिलों के उपायुक्त को इस योजना का लाभ पात्र बालिकाओं को देने के आदेश भी दे दिए गए हैं। कई जिलों में इस योजना का लाभ देने की शुरुआत भी कर दी गई है।

योजना के तहत प्रदान की जाने वाली आर्थिक सहायता

इस योजना के तहत लाभार्थी लड़कियों को किस्तों में आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इन किस्तों के बारे में हम आपको नीचे दी गई सारणी की सहायता से बताने जा रहे है।

किस्त किस्तों का विवरण आर्थिक सहायता (रुपए में)
पहली किस्त 8वीं कक्षा में 2500
दूसरे किस्त 9वी कक्षा में 2500
तीसरी किस्त 10वीं कक्षा में 5000
चौथी किस्त 11वीं कक्षा में 5000
पांचवी किस्त 12वीं कक्षा में 5000
छठी किस्त 18 साल की आयु पूरी हो जाने के बाद 20000

झारखण्ड मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य बालिकाओं को किस्तों में आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाकर शिक्षा से जोड़े रखना है। क्योंकि राज्य की कई ऐसी बालिकाएं हैं जो शिक्षा प्राप्त करना तो चाहती हैं लेकिन अपने परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण शिक्षा प्राप्त करने से वंचित रह जाती हैं। लेकिन अब सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के माध्यम से पात्र परिवारों की बालिकाएं 8वीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक कक्षावार वित्तीय सहायता प्राप्त करके शिक्षित हो सकेंगे। जिसके परिणाम स्वरुप राज्य में शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा और बाल विवाह पर रोकथाम लगेगी। Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojana से प्रधानमंत्री जी के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को भी बढ़ावा मिलेगा। जिससे राज्य में ‌ बेटियों की रक्षा व सुरक्षा के स्तर में सुधार आएगा।

Jharkhand Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojan के लाभ

  • झारखंड में सन् 2019 में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना को आरंभ किया गया था। लेकिन अब सन् 2022 में इसे संशोधित करके सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना कर दिया गया है।
  • यानी अब वर्तमान में किशोरियों/बालिकाओं को पूर्व की तरह मुख्यमंत्री सुकन्या योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा बल्कि इसकी जगह पर बालिकाओं को सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से 8वीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक वित्तीय सहायता दी जाएगी।
  • 18 साल की आयु पूरी हो जाने के बाद लाभार्थी बालिका को ₹20000 का एकमुश्त अनुदान उनकी उच्च शिक्षा या शादी के लिए प्रदान किया जाएगा।
  • राज्य के 37 लाख परिवारों जिनमें SECC-2011 जनगणना के अंतर्गत शामिल 27 लाख परिवारों और 10 लाख अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों की बेटियों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • Jharkhand Savitribai Phule Kishori Samridhi Yojan के तहत दी जाने वाली आर्थिक सहायता की राशि सीधे बालिका के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से हस्तांतरित की जाएगी।
  • इस योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया को आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से ऑफलाइन रखा गया है। आवेदन हेतु बालिका अपनी स्कूल, प्रखंड बाल विकास परियोजना अधिकारी एवं जिला समाज कल्याण पदाधिकारी कार्यालय से भी संपर्क कर सकती हैं।
  • राज्य में यह योजना लड़कियों को शिक्षा से जुड़े रखेगी जिससे लड़कियों का भविष्य उज्जवल बनेगा।

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत पात्रता मानदंड

  • आवेदिका बालिका को झारखंड की मूल निवासी होना चाहिए।
  • SECC-2011 जनगणना के अंतर्गत शामिल और अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों की बालिका ही इस योजना का लाभ उठाने की पात्र है।
  • अगर लाभार्थी बालिका की शादी 18 वर्ष की आयु से पहले हो जाती है तो उसे इस योजना का लाभ प्राप्त करने का अपात्र घोषित कर दिया जाएगा और उसे ₹20000 की एकमुश्त राशि भी नहीं दी जाएगी।
  • अवेदिका का बैंक खाता होना चाहिए और वह आधार कार्ड से लिंक होना हो।

झारखण्ड विवाह पंजीकरण

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • अंत्योदय कार्ड
  • SECC-2011 के अंतर्गत शामिल होने का प्रमाण पत्र
  • स्कूल जाने का प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • बैंक खाता विवरण

सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत आवेदन कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको अपने नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र से सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का आवेदन पत्र प्राप्त करना है।
  • इसके बाद आपको आवेदन पत्र में मांगी गई सभी आवश्यक जानकारियों को ध्यानपूर्वक पढ़कर भरना है।
  • सभी जानकारियों को भरकर आपको आवेदन पत्र से सभी आवश्यक दस्तावेजों को अटैच करना है।
  • अब आपको इस पत्र को प्रखंड विकास पदाधिकारी और जिला समाज कल्याण पदाधिकारी के कार्यालय में जाकर सबमिट करना है।
  • इस तरह से आप सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत अपना आवेदन कर सकते हैंं।

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *