छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना – ऑनलाइन आवेदन (CG Godhan Nyay) लाभ व पात्रता

CG Godhan Nyay Yojana को राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा 20 जुलाई 2020 को किसानो / पशुपालको को लाभ पहुंचाने के लिए शुरू की गयी है। इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा गाय पालने वाले पशुपालक किसानो से गाय का गोबर ख़रीदा जायेगा। इस योजना के तहत पशुपालक से ख़रीदे गए गोबर का उपयोग सरकार वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने के लिए करेगी। इस योजना के ज़रिये छत्तीसगढ़ सरकार गायो के लिए भी कार्य कर रही है तो चलिए आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना से जुड़ी सभी जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया, दस्तावेज़, पात्रता आदि प्रदान करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

छत्तीसगढ़

CG Godhan Nyay Yojana 2024

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से 21 जुलाई को पहली बार गोबर खरदीने की शुरआत करेगी।इस योजना का लाभ सीधे छत्तीसगढ़ राज्य के पशु पालने वालो को होगा। राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें सबसे पहले इस CG Godhan Nyay Yojana के तहत आवेदन करना होगा। आवेदन करने से पहले आपको इस योजना की पात्रता, दिशा निर्देश को पढ़ना होगा। इस योजना को दो चरण में चलाया जाएगा, जिसमें पहले चरण में राज्य के 2240 गोशालाओं को जोड़ा जाएगा, फिर कुछ ही दिनों में 2800 गठनों का निर्माण होने के बाद दूसरे चरण में भी गोबर खरीदा जाएगा। गाय का गोबर कई तरह के काम में आता है। इसके माध्यम से अच्छा इंधन तैयार होता है। इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा गाय जा गोबर 2 रूपये प्रति किलो की दर से ख़रीदा जायेगा।

Latest Update – गोधन न्याय योजना के लाभार्थियों के बैंक खाते में 13 करोड़ 57 लाख रुपए की राशि का किया जाएगा ऑनलाइन अंतरण

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा 21 मई को दुर्ग जिले के संकरा पाटन में आयोजित भरोसे के सम्मेलन में गोधन न्याय योजना के लाभार्थियों को ऑनलाइन राशि का भुगतान किया जाएगा। इस योजना के तहत मुख्यमंत्री हितग्राहियों के बैंक खाते में 13 करोड़ 57 लाख रुपए की धनराशि का ऑनलाइन अंतरण करेंगे। जिसमें 1 मई से 15 मई तक गौठानो में किए गए क्रय में 1.98 लाख क्विंटल गोबर के एवज में ग्रामीण पशुपालकों को सरकार द्वारा 3.95 करोड़ रुपए की राशि का भुगतान किया जाएगा। वहीं गौठान समिति को 5.66 करोड़ रुपए और स्व सहायता समूह को 3.96 करोड़ रुपए की लाभान्वित राशि को शामिल किया गया है। गोधन न्याय योजना से अब तक 3 लाख 41 हजार 712 ग्रामीण पशुपालक लाभान्वित हो रहे हैं जिसमें से 46% महिलाएं हैं। इस योजना से ग्रामीणों और भूमिहीन लोगों को सहारा मिला है। छत्तीसगढ़ की सर्वाधिक लोकप्रिय योजना के माध्यम से करीब 2 लाख भूमिहीन परिवार गौठानों में गोबर की बिक्री और रोजगार हासिल करने में सक्षम हुए हैं साथ ही अपनी आजीविका को चलाने में भी सहायता मिली हैं।

छत्तीसगढ़ बेरोजगारी भत्ता

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के बारे में जानकारी

योजना का नाम CG Godhan Nyay Yojana
इनके द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा
लॉन्च की तारीक 20 जुलाई 2020
लाभार्थी गाय पालने वाले पशुपालक
उद्देश्य पशुपालको की आय में वृद्धि करना

CG Godhan Nyay Yojana का उद्देश्य

जैसे की आप सभी लोग जानते है कि पशुपालको की आय कुछ ज्यादा नहीं होती जिसकी वजह से वह अपने पशुओ को अच्छा चारा नहीं खिला पाते और कुछ लोग अक्सर पशुओं का दूध निकाल उन्हे खुला छोड़ देते हैं, जिसके गांव तथा शहरों में गोबर यूं ही पड़ा रहता है, जिससे गंदगी भी फैलती है। इसे सभी समस्याओ को देखते हुए राज्य सरकार ने इस छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को शुरू किया है गोधन न्याय योजना के ज़रिये सरकार गाय पालने वाले किसानो की गाय का गोबर खरीदेगी। जिससे पशुपालको की आय में भी वृद्धि होगी और गाय का गोबर भी व्यर्थ नहीं जायेगा। इस योजना के माध्यम से पशुपालकों की आय में वृद्धि होने से पशुओं को उनके पशुपालन में ही रखा जायेगा, जिससे कि पशुओं को इधर-उधर चरने की भी जरुरत नहीं होगी।

खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना

छत्तीसगढ़ गौधन न्याय योजना पृष्ठभूमि

राज्य सरकार द्वारा ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए पिछले डेढ़ वर्ष से कई सारी योजनाएं जैसे कि नरवा, गुरुवा आदि चलाई जा रही है। सरकार द्वारा पशुओं के लिए गौशालाओं का निर्माण भी किया गया है। अब तक राज्य के 2200 गांवों में गौशालाओं का निर्माण कर दिया गया है और आने वाले समय में 5000 और गांवों में गौशालाओं का निर्माण किया जाएगा। छत्तीसगढ़ गौधन न्याय योजना राज्य की अर्थव्यवस्था तथा ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए बहुत लाभकारी साबित होगी। इस योजना के माध्यम से रोजगार के अवसर भी उत्पन्न होंगे। इस योजना के लागू होने के बाद पशुधन मालिक अपने पशुओं को उचित चारा पानी मुहैया कराएंगे तथा काउ डंग को बेच भी सकेंगे।

  • छत्तीसगढ़ देश का पहला कॉउ डंग खरीदने वाला राज्य बनेगा। सूराजी गांव योजना के माध्यम से गौशालाओं का निर्माण किया जाएगा और इन गौशालाओं के माध्यम से गोधन न्याय योजना को लागू किया जाएगा। महिला स्वयं सहायता समूह इन केंद्रों पर वर्मिनकंपोस्ट तैयार करने सहित विभिन्न अन्य अनु मुख्य योजनाएं संचालित करेंगे।
  • सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को चरणबद्ध तरीके से गौशालाओं का निर्माण कर के विस्तृत किया जाएगा। लगभग 11,630 ग्राम पंचायत तथा 2000 गांव में गौशालाओं का निर्माण किया जाएगा।

Godhan Nyay Yojana Chhattisgarh के लाभ

  • इस योजना का लाभ छत्तीसगढ़ राज्य के गाय पालने वाले पशुपालको /किसानो को प्रदान किया जायेगा।
  • छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत पशुपालक किसानो से उनके दूधिया पशु के गोबर को खरीदने का कार्य किया जायेगा।
  • छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत पशुपालको से ख़रीदे जाने वाला गाय का गोबर का इस्तेमाल वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने में किया जायेगा।
  • सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के जरिेए किसानों और पशु पालन करने वाले लोगों की आय में तो वृद्धि होगी।
  • राज्य में किसानो और पशु पालन करने वालों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।

गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़ के मुख्य तथ्य

  • इस योजना को ज्यादा से ज्यादा गांव और शहरों में भविष्य में चलाया जायेगा।
  • Godhan Nyay Yojana Chhattisgarh को दो चरण में चलाया जाएगा, जिसमें पहले चरण में राज्य के 2240 गोशालाओं को जोड़ा जाएगा, फिर कुछ ही दिनों में 2800 गठनों का निर्माण होने के बाद दूसरे चरण में भी गोबर खरीदा जाएगा।
  • सरकार द्वारा इस योजना के ज़रिये 2 रूपये प्रतिकिलो की दर से गाय का गोबर ख़रीदा जायेगा।
  • इस योजना के माध्यम से सरकार 21 जुलाई 2020 को पहली बार गोबर खरदीने की शुरआत करेगी।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना

दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक छत्तीसगढ़ राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत केवल राज्य के गाय पशुपालको को ही पात्र माना जायेगा।
  • बड़े जमींदारों व्यापारियों को उनकी समृद्धता के आधार पर इस योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पशुओ से सम्बंधित जानकारी
  • पासपोर्ट साइज फोटो

CG Godhan Nyay Yojana में आवेदन कैसे करे ?

राज्य के जो इच्छुक पशुपालक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे।

  • इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको गूगल प्ले स्टोर को ओपन करना होगा। गूगल प्ले स्टोर को ओपन करने के बाद आपको सर्च बार में छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना लिखना होगा और फिर सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • सर्च के बटन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना एप्लीकेशन खुल जाएगी।
  • इसके बाद आपको Chhattisgarh Godhan nyay Yojana को डाउनलोड करने के लिए इनस्टॉल के बटन पर क्लिक करना होगा। एप्लीकेशन डाउनलोड करने के बाद आपको इस ऍप को ओपन करना होगा।
CG
  • इसके बाद आपको छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना आवेदन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने एप्लीकेशन फॉर्म खुल जायेगा।
  • फिर आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी भरनी होगी। सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा। इस तरह आपका आवेदन हो जायेगा।

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *