डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना के माध्यम से बढ़ेगा डिजिटल लेनदेन, घोषणा हुई

Digital Swasthya Protsahan Yojana – भारत सरकार द्वारा डिजिटल प्रक्रिया को दिन प्रतिदिन बढ़ावा देने के लिए नई नई योजनाएं विकसित की जा रही है ताकि देश के नागरिकों को डिजिटल करण से जोड़ा जा सके इसी तरह देश के नागरिकों को स्वास्थ्य संबंधित सुविधा उपलब्ध कराने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के तहत Digital Swasthya Protsahan Yojana को शुरू करने की घोषणा की गई है। इस योजना के माध्यम से देश के नागरिकों एवं स्वास्थ्य कंपनियों को डिजिटल माध्यम से जोड़ने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएंगे। इस योजना से जुड़ी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको यह आर्टिकल ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़ना होगा। ताकि आप डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सके।

Digital

Digital Swasthya Protsahan Yojana 2024

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (National Health Association) ने 22 दिसंबर 2022 को आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के तहत भारत में स्वास्थ्य लेनदेन को डिजिटल रूप में बढ़ावा देने के लिए डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना की घोषणा की है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने एक बयान में कहा कि डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना के तहत अस्पतालों तथा प्रयोगशालाओ और अस्पताल/स्वास्थ्य प्रबंधन सूचना प्रणाली और प्रयोगशाला प्रबंधन सूचना प्रणाली जैसे डिजिटल स्वास्थ्य समाधान प्रदाताओं को भी इस योजना के तहत प्रोत्साहन प्रदान किया जाएगा। यह योजना स्वास्थ्य सुविधाएं डिजिटल माध्यम से प्रदान करने के लिए मरीजों को Ayushman Bharat Digital Mission में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करेगी।

Nipun Bharat Mission

डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना के बारे में जानकारी

योजना का नाम Digital Swasthya Protsahan Yojana
शुरू की गई राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा
योजना की घोषणा 22 दिसंबर 2022
लाभार्थी देश के नागरिक
उद्देश्य डिजिटल स्वास्थ्य को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना
आवेदन प्रक्रिया अभी उपलब्ध नहीं
अधिकारिक वेबसाइट जल्द ही लांच होगी

4 करोड़ तक वित्तीय प्रोत्साहन पा सकेंगे

डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना के माध्यम से स्वास्थ्य कंपनियां वित्तीय सहायता अर्जित करने में सक्षम होंगी। इस योजना के तहत पात्र स्वास्थ्य सुविधाएं और डिजिटल कंपनियां अपनी तरफ से बनाए गए और आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाते से लिंक किए गए डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड की संख्या के आधार पर लगभग 4 करोड़ रुपए तक की वित्तीय प्रोत्साहन राशि अर्जित करने में सक्षम हो सकेगी। इस योजना के माध्यम से स्वास्थ्य सुविधाएं और डिजिटल कंपनियों को अत्यधिक लाभ प्राप्त होगा। डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना के तहत डिजिटल स्वास्थ्य समाधान प्रदाताओं को प्रोत्साहन दिया जाएगा।

कंपनियों को आगे आने के लिए प्रोत्साहित करेगी Digital Swasthya Protsahan Yojana

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) द्वारा डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना की घोषणा करते हुए NHA के सीईओ आर. एस. शर्मा ने कहा कि यह योजना अधिक से अधिक स्वास्थ्य सुविधाओं और डिजिटल सॉफ्टवेयर कंपनियों को प्रोत्साहित करेगी। क्योंकि इस योजना के माध्यम से स्वास्थ्य सुविधा और डिजिटल सॉफ्टवेयर कंपनियो को मरीज केंद्रित स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए आगे आने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। और इस योजना के माध्यम से आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन में शामिल होने के लिए स्वास्थ्य कंपनियां प्रोत्साहित होंगी।

PM SHRI Yojana

काफी लोकप्रिय स्कीम है आयुष्मान योजना

आपको बता दें कि देश के लिए व्यापक डिजिटल स्वास्थ्य इको lसिस्टम के निर्माण में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन लगातार प्रगति हासिल कर रही है। आसमान भारत स्वास्थ्य खातों (एबीएचए) से जुड़े लगभग 4 करोड़ से अधिक डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड के साथ इस स्कीम ने एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल कर ली है। अब तक आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाते के अंतर्गत 29 करोड़ से अधिक नागरिकों ने अपने विशिष्ट खाते जनरेट किए है। डिजिटल रूप से आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना से जुड़े खातों से स्वास्थ्य रिकॉर्ड के साथ नागरिक अपनी सुविधानुसार इन रिकॉर्डर तक पहुंच और प्रबंधन कर सकेंगे।

Digital Swasthya Protsahan Yojana के मुख्य बिंदु

  • Ayushman Bharat Digital Mission की स्वास्थ्य सुविधा रजिस्ट्री के साथ पंजीकृत और योजना के तहत निर्देश पात्रता को पूरा करने वाले इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैंं।
  • इस वित्तीय प्रोत्साहन योजना के माध्यम से देश में डिजिटल स्वास्थ्य को अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।
  • डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना में समाधान प्रदाताओं को भी शामिल किया जाएगा।
  • समाधान प्रदाताओं द्वारा स्वास्थ्य बोर्ड पर आने के लिए अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं को संभाल सकेंगे।
  • पारिस्थितिक तंत्र को मजबूत करने की सुविधा आदि प्रदान करने के लिए समाधान प्रदाताओं को शामिल किया जाएगा।
  • जिन्होंने यूपीआई, टीबी मामलों की अधिसूचना, जननी सुरक्षा योजना जैसे अन्य नागरिक केंद्रित कार्यक्रमों को जल्दी अपनाने में उत्प्रेरक की भूमिका निभाई उन्हें इस योजना के तहत सम्मिलित किया जाएगा।
  • 10 या उससे अधिक बेड वाली स्वास्थ्य सुविधाओं, प्रयोगशाला/रेडियोलॉजी डायग्नोस्टिक्स केंद्रों, एबीडीएम सक्षम डिजिटल समाधान प्रदान करने वाली डिजिटल समाधान कंपनियों को प्रोत्साहन प्रदान किया जाएगा।

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *