मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना लांच हुई, गोवंश और गौ माता का रखा जाएगा ध्यान

Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana – प्राचीन समय से भारत में हिंदू धर्म के लिए गाय बहुत ही महत्वपूर्ण पशु है। गाय को हिंदू धर्म के लोगों माता की तरह पूजते है। लेकिन कुछ समय से बदलते भारत में गायों के प्रति लोगों की अभिरुचि कम हो गई है। जिसके कारण लोगों ने गायों का पालन करने की जगह उन्हें आवारा की तरह सड़कों पर छोड़ दिया है। जिससे गायें सुरक्षित नहीं है और आम जनता को भी उनके आवारा घूमने के कारण काफी परेशानी हो रही है। अब इस परेशानी को रोकने के लिए गुजरात सरकार ने अपने यहां मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना को शुरू करके देश के सामने एक नई पहल रखी है। इस योजना के माध्यम से गोवंश और गौ माता के रखरखाव का काम किया जाएगा।

अगर आप Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2024 के बारे में जानने के इच्छुक हैं फिर आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें। क्योंकि हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस योजना से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी बताने जा रहे हैं।

Mukhyamantri

Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2024

गुजरात सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट में मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना को शुरू करने की घोषणा की थी। अब प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी नवरात्रि के पावन अवसर पर शुक्रवार के दिन आद्यशक्ति धाम अंबाजी से गुजरात में इस योजना को लांच करेंगे। इस योजना के तहत गोवंश और गौ माता का रखरखाव करने वाली पहले से ही खुली गौशालाओं और पांजरापोल को या नई गौशाला खोलने पर संचालक को आर्थिक सहायता दी जाएगी। साथ ही गौशालाओं में स्वास्थ्य सेवाओं को जोड़ा जाएगा और गायों के खाने का अच्छा प्रबंधन किया जाएगा।

इसके अलावा गौशालाओं में गौ माता के रखरखाव के लिए और काम करने के लिए लोगों को भी रखा जाएगा जिससे बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा। Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana के संचालन के लिए सरकार द्वारा हर साल ₹500 का बजट निर्धारित किया गया है। गुजरात में इस योजना के माध्यम से जगह-जगह नई गौशालाएं खुलेंगी जिससे गौ माता को संरक्षण मिलेगा और वह सड़कों पर आवारा की तरह नहीं घूमेंगी।

Ikhedut Portal

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना के बारे में जानकारी

योजना का नाम Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana
कब घोषित की गई थी वित्तीय बजट 2022-23 के दौरान
संबंधित विभाग पशु संवर्धन विभाग
राज्य गुजरात
निर्धारित बजट 500 करोड़ों रुपए
लाभार्थी गुजरात की आवारा गौ माता/गोवंश और गौशाला/पंजरापोल
उद्देश्य गायों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए गौशाला निर्माण पर आर्थिक सहायता देना
साल 2023
अधिकारिक वेबसाइट जल्द ही लांच की जाएगी।

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य गुजरात की गौ माता और गोवंश को सुरक्षा प्रदान करना है। क्योंकि कुछ समय से लोगों में गायों को पालने की अभिरुचि कम हो गई। जिसके कारण गाय काफी संख्या में आवारा की तरह सड़कों पर घूमती हुई नजर आती है। सड़कों पर घूमने के कारण उन्हें सही खान-पीन नहीं मिल पाता है जिससे उनका मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य बिगड़ जाता है और फिर वह आम जनता को परेशान करती है।

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना के माध्यम से विशेष तौर पर आवारा गौ माता और गोवंश का रखरखाव करने वाली गौशालाओं और पांजरापोल को आर्थिक सहायता दी जाएगी। इस योजना के माध्यम से सड़कों पर घूमने वाली आवारा गायों को संरक्षण और सुरक्षा मिलेगी और साथ ही आम जनता भी आवारा गायों के कारण होने वाले नुकसान से बचेंगे। Gau Mata Poshan Yojana Gujarat 2023 का विशेष तौर पर मुख्य उद्देश्य आवारा घूमने वाली गायों को दुर्घटना, बीमारी और शारीरिक कष्ट से बचाना है।

Gujarat Vahli Dikri Yojana

Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2024 की विशेषताएं

  • गुजरात सरकार द्वारा मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना को 2022-23 के बजट घोषणा के दौरान घोषित किया गया था।
  • इस योजना के तहत गोवंश और गौ माता का रखरखाव करने वाली पहले से ही खुली गौशालाओं और पांजरापोल को या नई गौशाला खोलने पर संचालक को आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • इस योजना का सुचारु रुप से संचालन करने के लिए प्रतिवर्ष लगभग ₹500 का बजट निर्धारित किया गया है।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा नवरात्रि के पावन अवसर पर इस महत्वपूर्ण योजना को लांच किया जाएगा।
  • इस योजना की विधिवत लॉन्चिंग के अवसर पर प्रतीक के तौर पर 5 गोशाला और पांजरापोल को आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • गुजरात सरकार की इस पहल से आवारा घूमने वाली गायों को सुरक्षा एवं संरक्षण मिलेगा।

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना के लाभ

  • इस योजना का लाभ विशेष तौर पर गुजरात में आवारा घूमने वाली गायों को मिलेगा।
  • गौमाता पोषण योजना गुजरात 2023 के माध्यम से राज्य में नए-नए गौशालाएं खुलेंगी और साथ ही गौशालाओं में स्वास्थ्य सेवाओं को जोड़ा जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से गौशालाओं में गौमाता और गोवंश का रखरखाव और संरक्षण करने के लिए लोगों को काम पर रखा जाएगा जिससे बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा।
  • इसके अलावा गौशालाओं में गायों के खानपान का उचित प्रबंधन किया जाएगा। ताकि गाय स्वस्थ रहें और कम बीमार पड़े।
  • अब Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana के माध्यम से गाय सड़कों पर आवारा की तरह नहीं घूमेंगी। जिससे आम जनता को भी फायदा होगा।

Gau Mata Poshan Yojana के तहत पात्रता

  • आवेदक को गुजरात राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • पशुपालक इस योजना के तहत आवेदन करने के पात्र हैं।
  • पहले से ही खुली हुई गौशाला और पांजरापोल के संचालक भी इस योजना के तहत आवेदन करने के पात्र हैं।

Manav Garima Yojana

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • राशन कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • पुरानी गौशाला और पांजरा पोल का पंजीयन प्रमाण पत्र
  • नई गौशाला खोलने के लिए पर्याप्त जगह एवं संसाधन प्रमाण पत्र

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना के तहत आवेदन कैसे करें?

गुजरात के जो इच्छुक लोग मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं उन्हें अभी थोड़ा इंतजार करना होगा। क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा नवरात्रि के पावन मौके पर शुक्रवार को आद्यशक्ति धाम अंबाजी से गुजरात में इस योजना को लांच किया जाएगा। जब यह योजना लॉन्च हो जाएगी तो इसके तहत आवेदन करने की प्रक्रिया की जानकारी भी सार्वजनिक कर दी जाएगी। इसलिए आपको अभी इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए इसके लांच होने तक का इंतजार करना होगा।


Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *