राजीव गांधी किसान न्याय योजना 2024 – Kisan Nyay Yojana की चौथी किस्त जारी करेगी भाजपा सरकार

Kisan Nyay Yojana – सरकार द्वारा सन 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। इसके लिए राज्य एवं केंद्र सरकार विभिन्न प्रकार की योजनाएं समय-समय पर आरंभ कर रही है। जिससे कि देश के किसान सशक्त एवं आत्मनिर्भर बन सकें। इसी बात को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राजीव गांधी किसान न्याय योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से किसानों को धान के समर्थन मूल्य के अंतर की राशि प्रदान की जाएगी। इस लेख को पढ़कर आपको इस योजना से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी। जैसे कि CG Kisan Nyay Yojana के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया, उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज आदि। तो दोस्तों यदि आप राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आप से निवेदन है कि आप हमारे इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

CG

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana 2024

राजीव गांधी किसान न्याय योजना को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के द्वारा आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश के किसानों को ₹9000 प्रति एकड़ आदान सहायता राशि प्रदान की जाएगी। यह राशि मक्का, कोदो, कुटकी, सोयाबीन, अरहर तथा गन्ना उत्पादक कृषकों को प्रदान की जाएगी। इसके अलावा यदि वर्ष 2020-21 में किसान द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्यपर धान विक्रय किया गया था और किसान धान के बदले कोदो कुटकी, गन्ना, अरहर, मक्का, सोयाबीन, दलहन, तिलहन, सुगंधित धान, केला, पपीता आदि की फसल लगाता है या फिर वृक्षारोपण करता है तो इस स्थिति में किसान को ₹10000 प्रति एकड़ आदान सहायता राशि प्रदान की जाएगी। वृक्षारोपण करने वाले किसान को 3 वर्ष तक आदान सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

सरकार द्वारा CG Kisan Nyay Yojana का बजट ₹ 5100 करोड़ रुपए निर्धारित किया गया है। राज्य के सभी किसान इस योजना का लाभ प्राप्त करने के पात्र है। वित्त मंत्री द्वारा 2020-21 का बजट पेश करते हुए इस योजना को आरंभ करने का निर्णय लिया गया था। एलएल

छत्तीसगढ़ बेरोजगारी भत्ता

10th Jan 2024 Update:- बीजेपी सरकार किसानों को देगी राजीव गांधी न्याय योजना की चौथी किस्त

छत्तीसगढ़ के उपमुख्यमंत्री अरुण साव ने कहा है कि किसानों को राजीव गांधी न्याय योजना की चौथी किस्त दी जाएगी। बिलासपुर संभागीय मुख्यालय में सोमवार को संभागीय कार्यकर्ता सम्मान समारोह का आयोजन किया गया था। समारोह के बाद डिप्टी सीएम राज्य स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता के समापन समारोह में शामिल होने जरहागांव गांव पहुंचे। इस कार्यक्रम के दौरान डिप्टी सीएम सवा ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि किसानों को चिंता करने की आवश्यकता नहीं है उनको उनका वाजिब हक भाजपा सरकार द्वारा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य में सत्ता परिवर्तन से किसी का हक समाप्त नहीं हो जाता। हमारी सरकार किसानों को उनके हक की राशि यानी राजीव गांधी न्याय योजना की चौथी किस्त निश्चित रूप से देगी। डिप्टी सीएम के द्वारा राजीव गांधी न्याय योजना की चौथी किस्त के बारे में दिए गए इस बयान से राज्य के किसानों को राहत मिलेगी।

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना के बारे में जानकारी

योजना का नाम Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana
इनके द्वारा घोषणा की गयी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा
लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य किसानो को धान की अंतर की राशि प्रदान करना
ऑफिसियल वेबसाइट अभी नहीं

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों के उत्पादन में वृद्धि करना है। यह वृद्धि किसानों को अनुदान राशि प्रदान करके की जाएगी। यह अनुदान राशि सभी पात्र किसानों को प्रतिवर्ष प्रदान की जाती है। अनुदान राशि प्राप्त होने से सभी किसान फसल का उत्पादन बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित होंगे। CG Kisan Nyay Yojana के माध्यम से किसानों की आय में भी वृद्धि होगी तथा वह आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन सकेंगे। इस योजना के माध्यम से किसानों के जीवन स्तर में भी सुधार आएगा।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना कार्यान्वयन

CG Nyay Yojana का कार्यान्वयन जिला स्तर पर कलेक्टर द्वारा गठित जिला स्तरीय अनुश्रवण समिति के माध्यम से किया जाएगा। इस योजना की निगरानी तथा अंतर विभागीय समन्वय मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित राज्य स्तरीय अनुश्रवण समिति द्वारा किया जाएगा। इसके अलावा कृषि विभाग के जिला एवं मैदानी स्तर के अधिकारी द्वारा अपने क्षेत्रों में राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत प्राप्त हुए आवेदन का सत्यापन किया जाएगा। यह सत्यापन शासन के दिशा निर्देश अनुसार किया जाएगा। यदि किसान द्वारा आवेदन पत्र मैं इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए कोई गलत जानकारी दर्ज की गई है तो इस स्तिथि में किसान से लाभ की राशि वापस वसूल ली जाएगी।

छत्तीसगढ़ हाफ बिजली बिल योजना

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana का लक्ष्य

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana के अंतर्गत गन्ना उत्पादक किसान को भी 74 करोड़ 24 लाख रुपए का भुगतान किया जा चुका है। गन्ना उत्पादक श्रेणी में 34292 किसान हैं। इस योजना के सभी श्रेणी के किसानों को अब तक 5 हजार 702 करोड़ 13 लाख रुपए का भुगतान करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। जिसमें से 4 हजार 597 करोड़ 86 लाख रुपए का भुगतान किया जा चुका है। Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana के अंतर्गत लगभग 18.38 लाख किसानों को सीधे उनके बैंक अकाउंट में लाभ की राशि प्रदान की जाती है। इन किसानों में 9.54 लाख सीमांत किसान है, 5.60 लाख लघु किसान है तथा 3.21 लाख बड़े किसान शामिल है। इस योजना में 14 फसलों पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। जो कि धान, मक्का, सोयाबीन, मूंगफली, तिल, अरहर, मूंग, उड़द, कुलथी, राम तिल, कोदो, कुटकी, रागी और गन्ना है।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना समिति

राज्य एवं जिला स्तरीय समिति

समिति सदस्य पद
मुख्य सचिव, छ. ग शासन अध्यक्ष
कृषि उत्पादन आयुक्त एवं प्रमुख सचिव सदस्य
सचिव वित्त विभाग सदस्य
सचिव खाद्य विभाग सदस्य
सचिव सहकारिता विभाग सदस्य
सचिव राजस्व एवं आपदा प्रबंधन सदस्य
संचालक, संस्थागत वित्त सदस्य
राज्य सूचना अधिकारी, एनआईसी सदस्य
संचालक कृषि सदस्य

जिला स्तरीय अनुश्रवण समिति

समिति सदस्य पद
जिला कलेक्टर अध्यक्ष
प्रभारी अधिकारी भू अभिलेख शाखा सदस्य
उप पंजीयक सहकारिता सदस्य
जिला खाद्य अधिकारी/खाद्य नियंत्रक सदस्य
लीड बैंक अधिकारी सदस्य
मु.का. अ/नोडल अधिकारी जिला सहकारी केंद्रीय बैंक सदस्य
जिला सूचना अधिकारी सदस्य
उप संचालक कृषि सदस्य

राजीव गांधी किसान न्याय योजना समितियों के कार्य

  • कृषकों को द्वारा दर्ज की गई शिकायतों का निराकरण करना।
  • इस योजना के कार्यान्वयन में आने वाली बाधाओं को हल करना।
  • योजना की समीक्षा एवं निगरानी।
  • सभी लाभार्थियों की जानकारी एकत्रित कर कर पोर्टल पर दर्ज करना।
  • भू अभिलेख तथा शुद्धिकरण।
  • अपडेशन एवं आधार लिंकिंग।
  • योजनाओं का प्रचार प्रसार।
  • ग्राम सभाओं का आयोजन।
  • समीक्षा।
  • कारण मैन की रणनीति तैयार करना।

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana का लाभ

  • इस योजना के ज़रिये देश के किसानो को धान के अंतर की राशि का फायदा पहुँचाना।
  • छत्तीसगढ़ किसान न्याय योजना के ज़रिये छत्तीसगढ़ के किसानो की आय में भी बढ़ोतरी होगी।
  • राज्य के किसान अपनी धान की अच्छी खेती कर सकते हैं।
  • इस Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana का लाभ केवल छत्तीसगढ़ के किसान उठा सकते हैं।
  • इस योजना के आवेदन राज्य के केवल धान की खेती करने वाले किसान ही कर सकते हैं।
  • योजना के अंतर्गत अभी धान, गन्ना और मक्का के किसानों को लिया गया है।
  • आगामी दिनों में दूसरी फसलों के साथ-साथ भूमिहीन ग्रामीणों को भी योजना के अंदर लेने का प्लान तैयार किया जा रहा है।

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana पात्रता का निर्धारण

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana के अंतर्गत सभी श्रेणियों के भूस्वामी एवं वन पत्तादार पात्र होंगे पर संस्तगत भू धारक किसान और रेगहा, बटाईदार, पत्तेदार किसान इस योजना के पात्र नहीं होंगे। किसानों की पात्रता का निर्धारण करते समय सभी कृषि भूमि सीलिंग कानूनों के प्रावधानों का पालन किया जाएगा। इसके अलावा यदि कोई किसान पंजीकृत है और उसकी मृत्यु हो जाती हैं तो इस स्थिति में नामांकित व्यक्ति को आदान सहायता राशि का भुगतान किया जाएगा। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत पंजीकरण करवाने के लिए आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे कि ऋण पुस्तिका, बी–1, आधार नंबर, बैंक पासबुक की छायाप्रति आदि जमा करना होगा।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना की पात्रता

  • समस्त श्रेणी के भूस्वामी एवं वन पट्टा धारी कृषक इस योजना का लाभ उठाने के पात्र हैं।
  • आदान सहायता केवल योजना के अंतर्गत सम्मिलित फसलों पर ही प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना पोर्टल पर पंजीकरण करवाना अनिवार्य है।
  • संबंधित मौसम में भुइया पोर्टल के संधारित गिरधारी के आंकड़े तथा कृषक के आवेदन में अंकित फसल व रकबे में से जो भी कम हो उक्त फसल या रकबे को आदान सहायता राशि की गणना हेतु मान्य की जाएगी।
  • संस्थागत भू धारक बटाईदार लीज कृषक इस योजना का लाभ उठाने के पात्र नहीं है।

महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana दिशा निर्देश

  • इन सभी पंजीकृत किसानों के डाटा को राजीव गांधी किसान योजना के लिए मान्य किया जाएगा और दूसरी फसलों के लिए राजस्व विभाग द्वारा एक और पोर्टल आरंभ किया जाएगा जिसमें एरिया वाइज, क्रॉप प्राइस कवरेज होगी।
  • धान, मक्का, गन्ना उत्पादक किसानों को छोड़कर अन्य फसलों के लिए आदान सहायता राशि की गणना की जाएगी। जिसके लिए भुइया पोर्टल से डाटा कलेक्ट किया जाएगा।
  • एग्रीकल्चर एक्सटेंशन ऑफिसर द्वारा आवेदन पत्र का सत्यापन किया जाएगा। इसके बाद किसान को कोऑपरेटिव सोसाइटी में अपना पंजीकरण करवाना होगा और फॉर्म वन सभी जरूरी दस्तावेजों के साथ जमा करना होगा। यह जरूरी दस्तावेज लोन बुक, आधार नंबर, बैंक पासबुक की फोटोकॉपी है।
  • इस योजना में केवल उन्हीं फसलों पर लाभ प्रदान किया जाएगा जिसकी जानकारी दिशानिर्देशों में दी गई है। इसके अलावा किसी और फसल पर इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा।

महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना

राजीव गांधी के सामने आए योजना हितग्राहियों का सत्यापन

इस योजना के अंतर्गत सभी विभाग के अधिकारियों द्वारा अपने कार्य क्षेत्र में आने वाले किसानों का सत्यापन भौतिक रूप से किया जाएगा। यह सत्यापन प्रक्रिया कुछ इस प्रकार की जाएगी।

विभाग का नाम सत्यपनकर्ता अधिकारी का पद नाम सत्यापन का प्रतिशत
कृषि विभाग ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी 10%
कृषि विकास अधिकारी 2%
वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी 1%
राजस्व विभाग पटवारी 10%
राजस्व निरीक्षक 2%

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana सत्यापन प्रक्रिया

  • वह किसान जो अन्य फसल लगाएंगे उन्हें संबंधित प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति में पंजीकरण करवाना अनिवार्य होगा।
  • पंजीकरण फॉर्म का सत्यापन रूरल एग्रीकल्चर एक्सटेंशन ऑफिसर द्वारा किया जाएगा।
  • यह सत्यापन गिरदावरी के डाटा के माध्यम से किया जाएगा। जो कि भुइयां पोर्टल पर उपलब्ध होगा।
  • सत्यापन के बाद किसान अपने आप को कोऑपरेटिव सोसाइटी में पंजीकरण करवा पाएंगे।
  • पंजीकरण प्रक्रिया 28 फरवरी से पहले करनी होगी।
  • पंजीकरण में किसानों को सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे कि लोन बुक, आधार नंबर, बैंक पासबुक फोटोकॉपी तथा पंजीकरण फॉर्म जमा करना होगा।
  • राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत केवल उन्हीं फसलों पर सहायता राशि प्रदान की जाएगी जो इस योजना के अंतर्गत शामिल है।
  • राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत वह किसान लाभ नहीं उठा सकते हैंं जिन्होंने अपना पंजीकरण नहीं करवाया है।
  • इस पूरी प्रक्रिया के अंतर्गत जो डेटाबेस प्राप्त होगा उसके आधार पर नोडल बैंक के माध्यम से सहायता राशि सीधे किसानों के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से पहुंचाई जाएगी।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना में आवेदन कैसे करें?

ऑनलाइन आवेदन

राजीव
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको आवेदन फॉर्म के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
CG
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर पीडीएफ फॉर्मेट में आवेदन पत्र होगा।
  • अब आप को डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर पाएंगे।

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana ऑफलाइन आवेदन

  • सर्वप्रथम आपकों राजीव गांधी किसान न्याय योजना का आवेदन पत्र कृषि विस्तार अधिकारी से प्राप्त करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको आवेदन पत्र ध्यानपूर्वक भरना होगा।
  • अब आपको आवेदन से सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे की ऋण पुस्तिका, बी–1, आधार नंबर, बैंक पासबुक की छायाप्रति को अटैच करना होगा।
  • अब आपको कृषि विस्तार अधिकारी के पास इस आवेदन पत्र को जमा करना होगा।
  • इसके बाद कृषि विस्तार अधिकारी को आपके आवेदन पत्र का सत्यापन करके निर्धारित समय सीमा में संबंधित प्राथमिक कृषि साख समिति में जमा करना होगा।
  • कृषक इसके पश्चात संबंधित प्राथमिक कृषि साख समिति से पावती प्राप्त कर सकते हैं।
  • यदि खातेदार संयुक्त है तो इस स्थिति में पंजीयन नंबरदार नाम के साथ किया जाएगा। ऐसे सभी खातेदारों को आवेदन पत्र के साथ सभी खाताधारकों की सहमति शपथ पत्र एवं अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज जमा करने होंगे। पंजीकृत नंबरदार कृषक के खाते में आधार सहायता राशि जमा की जाएगी। इस सहायता राशि का बंटवारा खातेदार आपसी सहमति से करेंगे।

लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको राजीव गांधी किसान न्याय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
Rajiv
  • अब आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • इस पेज पर आपको आवेदन के प्रकार का चयन करना होगा।
  • अब आपको अपनी यूजर आईडी, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको लॉगिन करें कि विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप लॉगिन कर पाएंगे।

यूजर मैनुअल डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको राजीव गांधी किसान न्याय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको यूजर मैनुअल के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • आपके सामने निम्नलिखित ऑप्शन खुल पर आएंगे।
    • RAEO
    • समिति
  • आपको अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप यूजर मैनुअल डाउनलोड कर पाएंगे।

पंजीयन फ्लो चार्ट देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको राजीव गांधी किसान न्याय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको पंजीयन फ्लोचार्ट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
पंजीयन
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आप पंजीयन फ्लो चार्ट देख सकते हैंं।

दिशा निर्देश डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको राजीव गांधी किसान न्याय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको दिशा निर्देश के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर एक पीडीएफ फॉर्मेट में फाइल होगी।
  • आपको अब डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप दिशानिर्देश डाउनलोड कर पाएंगे।

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *