वीरांगना सेवा केंद्र – वीर नारियों की शिकायत निवारण के लिए शुरू हुआ Veerangna Seva Kendra

Veerangna Seva Kendra – शहीदों की पत्नी के कल्याण के लिए भारतीय सेना बड़े कदम उठाती है। भारतीय सेना द्वारा प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने की दिशा में एक और कदम उठाते हुए वीरांगना सेवा केंद्र नामक एकल खिड़की सुविधा को शुरू किया गया है इस पोर्टल के माध्यम से शहीदों की पत्नियां शिकायतें दर्ज कर सकेगी। शहीदों की पत्नियों के कल्याण और शिकायतों के निवारण के लिए Veerangna Seva Kendra नामक पोर्टल को विकसित किया गया है। VSK Portal भारतीय सेना द्वारा भेदभाव एवं वीर नारियों एवं वीरगति प्राप्त सैनिकों के निकटतम परियोजना को वास्तविक देखभाल और सहायक प्रदान करने की दिशा में अपनी तरफ से एक पहल की है। इस पोर्टल के माध्यम से कल्याण संबंधी शिकायतों का पंजीकरण किया जा सकता है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से वीरांगना सेवा केंद्र से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएंगे। इसलिए आपको यह आर्टिकल ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़ना होगा।

Veerangna

Veerangna Seva Kendra 2024

प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने की दिशा में भारतीय सेना ने एक और कदम उठाते हुए ‘टेकिंग केयर ऑफ योर ओन, नो मैटर व्हाट’ के आदर्श वाक्य के साथ वीर नारियों/शहीदों की पत्नी के कल्याण और शिकायतों के निवारण के लिए ‘वीरांगना सेवा केंद्र’ (VSK) नाम की एकल खिड़की सुविधा शुरू की गई है। वीरांगना सेवा केंद्र परियोजना का उद्घाटन 10 नवंबर 2022 को सेना पत्नी कल्याण संघ (AWWA) अध्यक्ष ने दिल्ली कैंट स्थित भारतीय सेना के पूर्व सैनिक निदेशालय (DIAV) परिसर में किया गया। भारतीय सेना के वेटरेनस पोर्टल www.Indianarmyveterans.gov.in पर सेवा के रूप में वीरांगना सेवा केंद्र उपलब्ध होगा। इस विंडो पर शहीदों की पत्नियां अपनी शिकायतें दर्ज कर सकेगी। इसके अलावा इस विंडो पर शिकायतों के आवेदक को निगरानी, ट्रैकिंग और नियमित फीडबैक देखने की सुविधा भी प्राप्त होगी। इस परियोजना को डीआई एवी, एजी की शाखा द्वारा संचालित किया गया है।

CAPF eAwas Portal

वीरांगना सेवा केंद्र के बारे में जानकारी

का नाम Veerangna Seva Kendra
शुरू की गई भारतीय सेना ने
उद्देश्य शहीदों की पत्नी के कल्याण और शिकायतों का निवारण करना
लाभार्थी शहीदों की पत्नी
साल 2023
आवेदन ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट www.Indianarmyveterans.gov.in

Veerangna Seva Kendra 2023 का उद्देश्य

भारतीय सेना द्वारा वीरांगना सेवा केंद्र को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य शहीदों की पत्नियों के कल्याण और शिकायतों का निवारण करना है। इस विंडो पर शहीदों की पत्नियां अपनी शिकायतें दर्ज कर सकेगी। वीरांगना सेवा केंद्र पोर्टल पर शहीदों की पत्नियो द्वारा संबंधित अभिलेख कार्यालयो, कर्नल बेटरमेंट्स और डीएवी के माध्यम से कल्याण संबंधित शिकायतों का पंजीकरण किया जा सकता है। वीर नारियों के पास इस सुविधा में आने और उनकी शिकायतों को दर्ज करने और उनकी निगरानी करने के लिए वीरांगना सेवा केंद्र से मिलने का अवसर भी प्राप्त होगा।

Swatantrata Sainik Samman Yojana

वीरांगना सेवा केंद्र से संपर्क करने के लिए साधन

वीरांगना सेवा केंद्र के माध्यम से वीर नारियों और निकटतम परियोजना के पास टेलीफोन, एसएमएस, व्हाट्सएप, पोस्ट, ईमेल और सहायता प्राप्त करने के लिए वॉक इन के माध्यम से वीरांगना सेवा केंद्र से संपर्क करने के लिए कई साधन होंगे। शिकायतों की स्थिति की निगरानी कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर के माध्यम से कर सकेंगे और एसएमएस और ईमेल के माध्यम से आवेदक को नियमित स्थिति अपडेट प्राप्त होगी। इस परियोजना को डीआईएवी, एजी की शाखा द्वारा संचालित किया जाएगा। और प्रौद्योगिकी समाधान बीआईएसएज- एन द्वारा विकसित किया गया है। इसके अलावा हीरो मोटोकॉर्प ने अपनी CSR पहल के माध्यम से इसका समर्थन किया है।

अधिकारियों को एक कॉमन डिजिटल प्लेटफॉर्म से जोड़ेगी

विराना सेवा केंद्र परियोजना विभिन्न हितधारकों को यानी रिकॉर्ड ऑफिस, ऑफिसर रिकॉर्ड ऑफिस, ईसीएचएस, एडब्ल्यूडब्ल्यूए, कैंटीन सर्विसेज डायरेक्टरेट, कर्नल्स वेटरन, पीसीडीए एवं पीसीडीए (पी) में संपर्क अधिकारियों को एक कॉमन डिजिटल प्लेटफॉर्म पर सुगम एवं बाधारहित रूप से जोड़ने के लिए डिजिटल तकनीक का लाभ उठा सकते हैंं। केंद्रीय सैनिक बोर्ड (KSB), राष्ट्रीय सैनिक बोर्ड (RSB), जिला सैनिक बोर्ड (JSB) जैसे गैर सैन्य हितधारकों को ईमेल के माध्यम से जोड़ा जा रहा है।

Veerangna Seva Kendra के मुख्य बिंदु

  • Veerangna Seva Kendra पर शहीदों की पत्नियों को सुविधा उपलब्ध कराने के लिए एक व्हाट्सएप नंबर जल्द ही साझा किया जाएगा।
  • वीरांगना सेवा केंद्र पोर्टल पर शहीदों की पत्नियो द्वारा संबंधित अभिलेख कार्यालयो, कर्नल बेटरमेंट्स और डीएवी के माध्यम से कल्याण संबंधित शिकायतों का पंजीकरण किया जा सकता है।
  • सहायक प्रबंधक, VSK/ओआईसी वीएसके से मिलने वीर नारियों के पास इस सुविधा में आने और उनकी शिकायतों को दर्ज करने और उनकी निगरानी करने के लिए वीरांगना सेवा केंद्र से मिलने का अवसर भी प्राप्त होगा।
  • वीरांगना सेवा केंद्र पोर्टल के माध्यम से शहीदों की पत्नियां अपनी शिकायत दर्ज कर सकेगी। तथा उनका निवारण मिल सकेगा।
  • लाभार्थियों के साथ आंतरिक जुड़ाव और सहानुभूति बनाए रखने के लिए वीर नारियों को बी एस के स्टाफ के रूप में नियुक्त किया जाता है। ताकि वह शिकायतों को प्राप्त कर उनका निर्माण कर सकें।
  • इस पोर्टल के माध्यम से वीर नारियां आसानी से अपनी शिकायत कर ईमेल के माध्यम से नियमित स्थिति अपडेट प्राप्त कर सकेगी।

मां भारती के सपूत वेबसाइट

वीरांगना सेवा केंद्र के लाभ एवं विशेषताएं

  • ‘टेकिंग केयर ऑफ योर ओन, नो मैटर व्हाट’ के आदर्श वाक्य के साथ वीर नारियों/शहीदों की पत्नी के कल्याण और शिकायतों के निवारण के लिए ‘वीरांगना सेवा केंद्र’ (VSK) नाम की एकल खिड़की सुविधा शुरू की गई है।
  • वीरांगना सेवा केंद्र परियोजना का उद्घाटन 10 नवंबर 2022 को सेना पत्नी कल्याण संघ (AWWA) अध्यक्ष ने दिल्ली कैंट स्थित भारतीय सेना के पूर्व सैनिक निदेशालय (DIAV) परिसर में किया गया।
  • भारतीय सेना के वेटरेनस पोर्टल www.Indianarmyveterans.gov.in पर सेवा के रूप में वीरांगना सेवा केंद्र उपलब्ध होगा।
  • इस विंडो पर शहीदों की पत्नियां अपनी शिकायतें दर्ज कर सकेगी।
  • इसके अलावा इस विंडो पर शिकायतों के आवेदक को निगरानी, ट्रैकिंग और नियमित फीडबैक देखने की सुविधा भी प्राप्त होगी।
  • इस पोर्टल के माध्यम से शहीदों की पत्नियों को लाभ प्राप्त होगा।
  • इस परियोजना को डीआई एवी, एजी की शाखा द्वारा संचालित किया गया है।
  • शिकायतों की स्थिति की निगरानी कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर के माध्यम से कर सकेंगे।
  • SMS और ईमेल के माध्यम से आवेदक को नियमित स्थिति अपडेट प्राप्त होगी।

Veerangna Seva Kendra पोर्टल पर लॉगइन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको वीरांगना सेवा केंद्र पोर्टल पर लॉगइन करने के लिए डायरेक्टरी ऑफ इंडियन आर्मी वेटरेनस की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
Veerangana
  • होम पेज पर आपको Veerangana Seva Kendra का ऑप्शन दिखाई देगा। आपको उस पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने वीरांगना सेवा केंद्र का होम पेज खुल जाएगा।
  • आपको Login के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
वीरांगना
  • अब आपके सामने लॉगइन पेज खुल जाएगा।
  • आपको लॉगइन पेज पर यूजरनेम और पासवर्ड दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको दिया गया कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • अंत में आप को LOGIN के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप वीरांगना सेवा केंद्र पोर्टल पर लॉगिन कर सकते हैंं।

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *